Uncategorized

किसान आंदोलन: शशि थरूर और अन्‍य पर दर्ज FIR के खिलाफ याचिका पर SC कल करेगा सुनवाई

दिल्‍ली के अलावा यूपी और एमपी में भी थरूर और कुछ पत्रकारों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है (प्रतीकात्‍मक फोटो)खास बातेंएक प्रदर्शनकारी के मौत पर असत्‍यापित खबर शेयर करने का आरोप सीजेआई एसए बोवडे की तीन सदस्‍यीय बेंच करेगी मामले की सुनवाई थरूर, राजदीप और अन्‍य पर कुछ राज्‍यों में दर्ज कराई गई थी एफआईआरनई दिल्ली: णतंत्र दिवस (26 जनवरी) पर किसानों की ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) के दौरान एक प्रदर्शनकारी की मौत के बारे में कथित तौर पर असत्यापित खबर साझा करने के आरोप पर दर्ज FIR के खिलाफ कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) और पत्रकार राजदीप सरदेसाई (Rajdeep Sardesai) की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) मंगलवार को सुनवाई करेगा. FIR को चुनौती देने वाली यह याचिका पत्रकार मृणाल पांडे, जफर आगा, परेश नाथ, अनंत नाथ और विनोद के जोश की ओर से दाखिल की गई है. प्रधान न्‍यायाधीश (CJI) एसए

Read More
Uncategorized

किसान आंदोलन: कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने अपने ‘खून की खेती’ संबंधी बयान पर दी सफाई, कहा-मैं तो…

कृषि मंत्री ने कहा, पिछले छह वर्ष में किसानों और कृषि के लिए जो प्रयास किए हैं वे पहले कभी नहीं हुएनई दिल्ली: Farmer's Protest: किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) पर राज्‍यसभा में चर्चा के दौरान कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra singh Tomar) ने अपने 'खून की खेती' वाले बयान पर सफाई दी है. कृषि मंत्री ने कहा कि इसे लेकर किसी को उत्‍तेजित होने की आवश्‍यकता नहीं हैं, मैंने भी उत्‍तेजना में यह नहीं कहा था. मैं तो कांग्रेस (Congress) के दस्तावेज का ही जिक्र कर रहा था जिसमें उसने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर ख़ून की खेती करने का आरोप लगाया था. तोमर ने कहा कि सरकार किसान संगठनों से बातचीत के लिए हरदम तैयार है और पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) इस संबंध में भी अपनी ओर से प्रस्ताव दे चुके हैं. उन्‍होंने कहा कि किसानों के साथ हमारी बातचीत काफी दिनों तक चला है. सरकार की ओर से किया गया प्रस्‍

Read More
Uncategorized

किसान आंदोलन: दिल्‍ली बॉर्डर की ‘नाकेबंदी’ पर हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर पूछा सवाल, ‘क्‍या हम अपनों के बीच..’

हेमंत सोरेन ने दिल्‍ली की सीमा पर लगाए गए अवरोधकों का फोटो ट्वीट करते हुए कई सवाल पूछे हैंनई दिल्ली: किसान आंदोलन: दिल्‍ली बॉर्डर की 'नाकेबंदी' पर हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर पूछा सवाल, 'क्‍या हम अपनों के बीच..' Kisan Aandolan: कृषि कानूनों (Farm laws) को लेकर आंदोलनकारी किसानों और सरकार के बीच कायम गतिरोध टूटने का नाम नहीं ले रहा है. किसान जहां कानूनों को वापस लेने से की मांग कर रहे हैं तो दूसरी ओर सरकार इसके लिए तैयार नहीं है और संशोधन पर जोर दे रही है. किसान संगठनों ने अपने आंदोलन (Farmer's prorest) को आगे बढ़ाते हुए 6 फरवरी को चक्‍काजाम का ऐलान किया है, ऐसे में गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्‍टर रैली के दौरान हिंसा के बाद दिल्‍ली पुलिस फूंक-फूंककर कदम उठा रही है. पुलिस ने दिल्‍ली बॉर्डर की हर तरफ का 'नाकेबंदी' कर दी है, नुकीली कीलें, नुकीले तारों, बैरिकेड आदि से दिल्‍ली को 'अभेद किला'

Read More
Uncategorized

लोकतंत्र का मजाक बनाए जाने के बाद किसान आंदोलन के लिए राजनीतिक समर्थन लिया: राकेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (फाइल फोटो)गाजियाबाद: भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Farmer leader Rakesh Tikait) ने रविवार को कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा (Sanyukt Kisan Morcha) ने केन्द्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन (Movement against New Agricultural Laws) में राजनीतिक दलों को नहीं घुसने दिया था लेकिन प्रदर्शन स्थलों पर ‘‘लोकतंत्र का मजाक बनाए जाने'' के बाद ही उसने राजनीतिक समर्थन लिया. गाजीपुर में दिल्ली-मेरठ राजमार्ग पर प्रदर्शन स्थल पर सैकड़ों की संख्या में किसानों के जुटने की पृष्ठभूमि में टिकैत ने यह टिप्पणी की. पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड से बड़ी संख्या में किसान गाजीपुर सीमा पर जुट रहे हैं. गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद किसान आंदोलन अपनी गति खोने लगा था लेकिन टिकैत के भावुक अपील और मुजफ्फरनगर म

Read More